मनुष्य की वास्तविक प्रकृति पर विलियम शेक्सपियर उद्धरण।